में तैनात लेख " न्यायपालिका नियुक्ति आयोग " श्रेणी

  • आर्डर आर्डर !

    आर्डर आर्डर !

    कानून मंत्री 20 बड़े न्यायविदों से मिलकर राय लेते हैं। 26 पार्टी प्रमुखों से पूछते हैं मगर सुप्रीम कोर्ट के मौजूदा प्रधान न्यायधीश का ज़िक्र तक नहीं करते हैं। क्या इतने लोगों से पूछताछ में मौजूदा प्रधान न्यायधीश की राय को शामिल नहीं किया जा सकता है। क्या यह मुमकिन है कि इतने नाम कानून मंत्री की ज़ुबान पर आते हैं लेकिन चीफ जस्टिस का नाम नहीं आता है। वे भूल गए हों। तब जब इस विवाद में सार्वजनिक रूप से सुप्रीम कोर्ट के मौजूदा चीफ जस्टिस एक पार्टी बन गए हैं।