• झांसा

    झांसा

    उसने कहा था यकीन करने के लिए, हम भी यकीन करते रहे कहने के लिए ।..

    Share Button



  • छुरी

    छुरी

    तुम जो छुरी चलाते हो। हमारी पीठ झुक जाती है। हम जो उफ करते हैं..

    Share Button

  • कस्बों और शहरों का रोमांस

    कस्बों और शहरों का रोमांस

    रवीश कुमार कस्बों को देखने समझने की परंपरा साहित्य से ज़्यादा विकसित हुई। हम अक्सर..

    Share Button