Articles Posted by the Author:


  • छुरी

    छुरी

    तुम जो छुरी चलाते हो। हमारी पीठ झुक जाती है। हम जो उफ करते हैं..

    Share Button

  • कस्बों और शहरों का रोमांस

    कस्बों और शहरों का रोमांस

    रवीश कुमार कस्बों को देखने समझने की परंपरा साहित्य से ज़्यादा विकसित हुई। हम अक्सर..

    Share Button