हाल के पोस्ट





  • कांग्रेस युक्त बीजेपी

    कांग्रेस युक्त बीजेपी

    उधार का उम्मीदवार तक तो ठीक था, मगर उधार का परिवारवाद पहली बार सुन रहे हैं। संघ परिवार से आने वाली बीजेपी परिवारवाद समझने लगी है। यही तो भारतीय संस्कृति है जिसकी एकमात्र पार्टी बीजेपी है। अभी तक सब कहते थे कि कांग्रेस में भी भाजपाई हैं। पहली बार हो रहा है जब लोग कह सकते हैं कि भाजपा में भी कांग्रेसी हैं।



  • क्या ट्रोल भी छुट्टी पर हैं या वे कंफ्यूज़ हैं

    क्या ट्रोल भी छुट्टी पर हैं या वे कंफ्यूज़ हैं

    “कच्ची झोपड़ी की छाया में बच्चा सो रहा है, लकड़ी के झूले पर उसे सुलाया गया है जो धीरे धीरे हिल रहा है। साल भर पहले की बात है, जिस टोकरी में वो झूल रहा है वो तब थोड़ी छोटी थी। उसे किसी लंबी रस्सी से नहीं लटकाया गया था। वो कुछ महीने का छोटा सा नाज़ुक बच्चा था, इसलिए तेज़ झुलाने की ज़रूरत नहीं थी। जब वो सो रहा था तब उसकी मां नहाने गई। तभी उसने देखा कि नक्सलियों की तलाश में निकले सुरक्षा कर्मी उसे मारने लगते हैं। पांव पर मारते हैं। पीछे से मारते हैं। उसने दिखाया कि टोकड़ी में उसका बच्चा है। वो दूध पीलाने वाली मां है। सुरक्षा कर्मियों ने उसकी बात नहीं मानी। उसने बताया कि वे सिर्फ एक ही प्रमाण पर यकीन करते जब वो अपनी छाती से निकलता दूध दिखा देती।”



  • मेरिल स्ट्रीप का भाषण

    मेरिल स्ट्रीप का भाषण

    इस बात से मैं प्रेस पर आती हूं. हमें एक सिद्धांतवादी प्रेस की जरूरत होती है जो सत्ता को जवाबदेह बना सके, जो उनकी हर गलती पर अंगुली उठा सके. इसी वजह से हमारे संस्थापकों ने प्रेस और उसकी आजादी को हमारे संविधान में उल्लिखित किया है. इसलिए मैं अपनी पहुंच के लिए प्रसिद्ध हॉलीवुड विदेशी प्रेस और हमारे तबके के सभी से यह निवेदन करती हूं कि पत्रकारों की सुरक्षा के लिए बनी समिति को समर्थन देने के लिए आगे आयें. क्योंकि हमें आगे बढ़ने के लिए उनके साथ की जरूरत है. और, उन्हें सच की सुरक्षा के लिए हमारी जरूरत है.